सांख्यिकीय

गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग विभाग

हमारे बारे में

चीनी उद्योग उत्तर प्रदेश का एक महत्वपूर्ण उद्योग है और प्रदेश के लगभग 35 लाख कृषक परिवारों की आय का प्रमुख स्त्रोत है। प्रदेश में कुल स्थापित 156 चीनी मिलों में से वर्तमान में 116 चीनी मिलें पेराई का कार्य कर रही है। प्रदेश का कुल गन्ना क्षेत्रफल 20.54 लाख हेक्टेअर है। और लगभग रू0 20000 करोड़ गन्ना मूल्य के रूप में किसानों की आमदनी होती है। प्रदेश में किसानों के गन्ना उत्पादन को बढ़ाने, गन्ना क्षेत्रफल उत्पादकता तथा कुल उत्पादन के अनुमान चीनी मिलों को सुगमता से आपूर्ति एवं गन्ना मूल्य भुगतान विकास योजनाओं सम्बंधी आंकड़ों आदि के संकलन तथा अनुरक्षण हेतु सांख्यिकीय अनुभाग का गठन किया गया है।

सांख्यिकीय अनुभाग के उद्देश्य /लाभ

  • विभिन्न उद्देश्यों की पूर्ति हेतु जनपदवार- चीनी मिलवार गन्ने की औसत ऊपज का आंकलन करना एवं दिशा-निर्देश जारी करना।
  • प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा गन्ना पेराई, चीनी उत्पादन एवं औसत चीनी परता की सूचनाओं को संकलन करना।
  • प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा गन्ना किसानों के देय, भुगतान एवं अवशेष गन्ना मूल्य की सूचना का संकलन।
  • प्रदेश में कराये जाने वाले गन्ना सर्वेक्षण की सूचनाओं को तैयार करना।
  • प्रजातिवार, जनपदवार, चीनी मिलवार गन्ना क्षेत्रफल के आंकड़ों का संकलन करना।
  • शासन/ विभागीय/ अन्तर्विभागीय स्तर की समीक्षा बैठकों का आयेजन एवं प्राप्त निर्देशों का अनुपालन कराना।

गन्ना विकास विभाग का सॉख्यिकीय अनुभाग उप गन्ना आयुक्त (सांख्यिकीय) के अधीन कार्य करता है, जिसके अधीन मुख्यालय स्तर पर तीन सॉख्यिकीय अधिकारी के पद हैं। अपर सॉख्यिकी अधिकारी–25, सहायक सॉख्यिकी अधिकारी–38, कुल 63 पद हैं। वर्तमान में विभाग के अधीन 24 अपर सॉख्यिकीय अधिकारी कार्यरत हैं। अपर सांख्यिकीय अधिकारी का 01 तथा सहायक सांख्यिकीय अधिकारी के 38 पद रिक्त हैं। सॉख्यिकीय अनुभाग में परिक्षेत्रीय स्तर पर अपर सांख्यिकीय अधिकारी तथा जनपद स्तर पर सहायक सांख्यिकीय अधिकारी कार्य करते हैं। सॉख्यिकीय अनुभाग के मुख्य नियंत्रक अधिकारी, आयुक्त, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग, उत्तर प्रदेश हैं।