गन्ना खाण्डसारी एवं चीनी

गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग विभाग

हमारे बारे में

क्रय / क्रयेत्तर का प्रारूप

काफी समय पूर्व 1970 में 01/सी सर्कुलर निकाला गया था जिसमे सहायक चीनी आयुक्त/खाण्डसारी अधिकारी/खाण्डसारी निरीक्षक के कार्य एवं दायित्व का विस्तारपूर्वक निर्धारित किये गये थे। बडे ही खेद का विशय है कि इस महत्वपूर्ण सर्कुलर के निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित नहीं किया जा सका और यह बिना कार्यान्वयन के ही समाप्त हो गया। इस बीच उप चीनी आयुक्तों के नये पद सृजित हो गये है तथा स्टाफ में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। इसके अतिरिक्त यह भी धारणा व्याप्त है कि उप चीनी आयुक्तों एवं खाण्डसारी अधिकारियों से पर्याप्त कार्य नही लिया जा रहा है। कुछ लोगो का विचार है कि खाण्डसारी अधिकारियों को जान बूझकर दायित्वपूर्ण कार्य से अलग रखा जा रहा है जबकि इसके विपरीत यह भी कहा जाता है कि ये अधिकारी स्वयं उत्तरदायित्व लेने से कतराते है। ऐसी दशा में यह आवश्यक प्रतीत होता है कि चीनी विभाग के विभिन्न स्तर के अधिकारियों के कार्य एवं दायित्व स्पष्ट रूप से भली-भॉति निर्धारित कर दिये जाये ताकि इस सम्बन्ध में किसी प्रकार का भ्रम न रहें और सभी अधिकारियो की सेवा का पर्याप्त उपयोग हो सकें। अत: इस अधिकारियों के कार्य एवं दायित्व नीचे विस्तार से निर्धारित किये जा रहें है जो तत्काल प्रभावी होंगे। इन निर्देशों के कार्यान्वयन को सुनिश्चित कराना उप चीनी आयुक्तों का व्यक्तिगत दायित्व होगा और इस सम्बन्ध में वे पाक्षिक प्रगति रिपोर्ट मुझे भेजेगें ताकि इस सर्कुलर की भी परिणित पुराने 01/सी सर्कुलर जैसी न हो। यद्यपि इस सर्कुलर को यथासम्भव स्वत: पूर्ण बनाने का प्रयास किया है लेकिन विभागीय नियमों/अधिनियमों एवं आदेशों के द्वारा यदि कोई कार्य अथवा दायित्व किसी अधिकारी से अपेक्षित होगा तो वह अधिकारी नियमानुसार इन कार्यो के अतिरिक्त यह कार्य भी करेगा साथ ही उच्चाधिकारियों द्वारा यदि कोई अन्य कार्य किसी अधिकारी को सौपा जाता है तो वह कार्य भी उसके द्वारा किया जायेगा।