प्रचार संगठन

गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग विभाग

कार्यक्रम

संगठन का उद्देश्य एवं कार्य

गन्ना किसानों को भूमि की तैयारी से लेकर गन्ना आपूर्ति तक विभिन्न चरणों में विभागीय विकास अधिकारियों, मिल प्रबन्धन व गन्ने के विषय-विशेषज्ञ का एक साझा मंच प्रदान कराना इस संगठन का प्रकट उद्देश्य है। प्रकारान्तर से किसानों और विभागीय प्राधिकारियों के बीच यह सम्पर्क सेतु भी है। किसानों को जागरूक बनाने में टेक्नोलॉजी के हस्तान्तरण और विभागीय योजनाओं से उन्हें अनवरत् अवगत कराते रहना इस संगठन का ध्येय है। प्रचार संगठन के कार्यों में गन्ना ग्रामों में प्रचार सभायें आयोजित करना, चीनी मिल गेट और सार्वजनिक स्थलों पर सामूहिक सभायें आयोजित करना, क्षेत्रीय तिथियों/अवसरों पर प्रदर्शनी का आयोजन करना व गन्ना किसानों के बीच प्रचार साहित्य यथा-प्रासं​गक विवरण के हेन्डबिल, कृषकोपयोगी फोल्डर्स एवं गन्ने की खेती से संबंधित विविध कर्षण क्रियाओं, विभागीय योजनाओं पर पुस्तिकायें (बुकलेट्स) का वितरण करना परिगणित है। इसके अतिरिक्त प्रचार कार्यों में आकाशवाणी के क्षेत्रीय केन्द्रों से विभागीय विषयों पर रेडियों वार्ता प्रसारित करना/कराना व दूरदर्शन वार्ता भी सम्पादित कराना समाहित है। विभागीय गतिविधियों एवं क्रिया-कलापों पर विभिन्न समाचार पत्रों में प्रेस विज्ञप्तियां प्रकाशित कराना भी एक महत्वपूर्ण कार्य है। प्रचार संगठन के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अधिकार व कर्तव्य, कार्य करने की प्रक्रिया/कर्तव्यों के सम्पादन हेतु प्रयुक्त निकष तथा संगठन की विशिष्टियां आदि जन सूचना के अधिकार अधिनियम-2005 की धारा -4(1) (ब) के प्रावधानों के अन्तर्गत वर्णित हैं।

अन्य महत्वपूर्ण बिन्दु

  • गन्ना शोध केन्द्रों पर किसान मेला एवं वैज्ञानिक संगोष्ठी आयोजित कराना।
  • गन्ना किसान संस्थानों के प्रशिक्षण सत्र में प्रचार-प्रसार पर केन्द्रित विषयों का समावेश कराना व वार्ता नियोजित करना।
  • राज्य स्तरीय प्रदशर्नियों में विभाग की प्रभावशाली उपस्थिति दर्ज कराना।
  • त्रिस्तरीय गन्ना प्रतियोगिता योजना में किसानों को प्रतिभाग करने हेतु प्रोत्साहित करना एवं सर्वाधिक उपज प्राप्त कर्ता कृषकों को पुरस्कृत करना।
  • बसन्तकालीन बुवाई से ठीक पूर्व प्रदेशव्यापी विशेष प्रचार अभियान आयोजित करना, जिसमें अन्तरविभागीय संस्थाओं यथा-सूचना विभाग, इफको/कृभको व कृषि विभाग के साथ विभागीय कार्यक्रम का आमेलन व समन्वय करना।
  • विभाग की नीतियों, योजनाओं एवं प्राथमिकताओं को जादू विधा, कठपुतली व लोक संगीत दलों के माध्यम से दूर-दराज के गांवों और गन्ना कृषकों के बीच प्रसारित करना।
  • गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग विभाग की एक प्रतिनिधि मासिक पत्रिका गन्ना का भी प्रकाशन उत्तर प्रदेश सहकारी समिति संघ लि0, लखनऊ से किया जाता है। पत्रिका के मुख्य सम्पादक मुख्य प्रचार अधिकारी हैं, जबकि संरक्षक गन्ना एवं चीनी आयुक्त, उ0प्र0 एवं मुख्य संरक्षक प्रमुख सचिव/सचिव गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग, उ0प्र0 शासन हैं। पत्रिका में गन्ने की खेती एवं चीनी उद्योग से जुड़े सामयिक विषयों पर प्रासंगिक सामग्री रहती है, साथ में साहित्य, स्वास्थ्य, महिला जगत आदि विषयों पर भी आलेख दिये जाते हैं। पत्रिका के कुछ अंक विभाग की विशेष योजनाओं एवं नीतियों पर केन्द्रित किये जाते हैं। पत्रिका की सदस्यता हेतु मुख्य लेखाधिकारी, सहकारी गन्ना समिति संघ लि0, 12 राणा प्रताप मार्ग, लखनऊ से सम्पर्क किया जा सकता हैं, जबकि प्रकाशनार्थ सामग्री मुख्य सम्पादक, गन्ना मासिक, गन्ना भवन, 17, न्यू बेरी रोड, डालीबाग लखनऊ, उ0प्र0-226001 के पते पर भेजी जा सकती है।