गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग विभाग

उत्तर प्रदेश सरकार

गन्ने की स्वीकृति प्रजातियाँ

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों हेतु स्वीकृत गन्ना प्रजातियों की तालिका वर्ष 2014-15
क्रम संख्या नाम क्षेत्र जनपद शीघ्र पकने वाली प्रजातियॉ मध्य देर से पकने वाली प्रजातियॉ
1 - सभी क्षेत्र प्रदेश के समस्त  गन्ना उत्पादक जनपद को०शा० 8436‚ को०शा० 88230‚ को०शा० 95255‚
को०शा०96268‚ को०शा० 03234‚
यू०पी० 05125 को०से० 98231
को०शा० 08272
को०से० 95422
को० 0238‚ को० 0118‚ को० 98014
को०शा० 767‚ को०शा० 8432‚को०शा० 97264‚  को०शा० 96275‚ को०शा० 97261‚ को०शा० 98259‚ को०शा० 99259‚ को०से० 01434‚ यू०पी० 0097‚ को०शा० 08279‚ को०शा० 08276‚ को०शा० 12232‚को०से० 11453‚ को० 05011
2-
पश्चिमी क्षेत्र
मेरठ,

सहारनपुरत

मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, बुलन्दशहर बागपत।

सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली
सभी क्षेत्रों के लिए स्वीकृत प्रजातियों के साथ-साथ को०जा 64‚ को०शा० 03251‚ को०लख० 9709‚ को० 0237‚ को० 0239‚ को० 05009‚ को०पी०के० 05191 सभी क्षेत्रों के लिए स्वीकृत प्रजातियों के साथ-साथ को०शा० 94257‚ को०शा० 96269‚ यू०पी० 39‚ को०पन्त० 84212‚  को०शा० 07250‚ को०ह० 119‚ को०पन्त 97222‚ को०जे० 20193‚ को० 0124‚ को०ह० 128
3-
मध्य क्षेत्र
लखनऊ

बरेली

मुरादाबाद
लखनऊ लखीमपुर, सीतापुर, हरदोई रायबरेली, कानपुर कानपुर-देहात फर्रखाबाद, उन्नाव।

बरेली, पीलीभीत शाहजहॉपुर, बदॉयू अलीगढ़, एटा मथुरा।

मुरादाबाद, सम्भल अमरोहा, रामपुर तथा बिजनौर।
सभी क्षेत्रों के लिए स्वीकृत प्रजातियों के साथ-साथ को०जा 64‚ को०से० 01235‚ को०लख० 9709‚ को० 0237‚ को० 0239‚ को० 05009‚ को०पी०के० 05191 सभी क्षेत्रों के लिए स्वीकृत प्रजातियों के साथ-साथ को०शा० 94257‚ को०शा० 96269‚ यू०पी० 39‚ को०पन्त० 84212‚ को०ह० 119‚ को०पन्त 97222‚ को०जे० 20193‚ को० 0124‚ को०ह० 128
4-
पूर्वी क्षेत्र

देवरिया, गोरखपुर

देवीपाटन, फैजाबाद

देवरिया, कुशीनगर, आजमगढ़, मऊ, बलिया।
गोरखपुर, महराजगंज, बस्ती,सिद्धार्थनगर, संतकबीरनगर।

गोण्डा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच।
फैजाबाद, बाराणसी भदोही, जौनपुर गाजीपुर, बाराबंकी अम्बेडकरनगर सुल्तानपुर, अमेठी इलाहाबाद, मिर्जापुर आदि।
सभी क्षेत्रों के लिए स्वीकृत प्रजातियों के साथ-साथ को०से० 01235‚ को० 87263‚ को० 87268‚ को० 89029‚ को०लख० 94184‚ को० 0232‚ को०से० 01421 सभी क्षेत्रों के लिए स्वीकृत प्रजातियों के साथ-साथ को०से० 96436‚ को० 0233‚ को०से० 08452
5- सभी जलप्लावित क्षेत्रों के लिए स्वीकृत प्रजातियॉ। - यू०पी० 9530 एवं को०से० 96436

नोट-

1- गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग विभाग द्वारा विभागीय योजनाओं के अन्तर्गत कृषकों को केवल स्वीकृत प्रजातियों का ही गन्ना बीज वितरित किया जायेगा।

2- को०से० 01424 (मध्य देर) को कुण्डुआ रोग ग्राही हो जाने के कारण स्वीकृत प्रजाति से चरणबद्ध तरीके से विस्थापित (फेजआउट) कर दी गई है। पेराई सत्र 2016-17 के पश्चात् इसे स्वीकृत प्रजाति की श्रेणी में नहीं माना जायेगा।